Teri Yaad Bhi Na Aayi

Teri Yaad Bhi Na Aayi

Muddatein Gujri Aur Teri Yaad Bhi Na Aayi,
Aur Hum Bhool Gaye Hon Tujhe Aisa Bhi Nahi.

मुद्दतें गुजरी और तेरी याद ही ना आयी,
और हम भूल गए हों तुझे ऐसा भी नहीं।

Ek Tum Ho Sanam Ki Kuchh Kehte Nahi,
Ek Tumhari Yaadein Hain Jo Chup Rehti Nahi.

एक तुम हो सनम कि कुछ कहते नहीं,
एक तुम्हारी यादें हैं जो चुप रहती नहीं।

Ye Achha Usne Mere Katl Ka Tareeka Izaad Kiya,
Mar Jata Main Hichkiyon Se Itna Mujhe Yaad Kiya.

ये अच्छा उसने मेरे कतल का तरीका ईजाद किया,
मर जाता मैं हिचकियो से, इतना मुझे याद किया।

Duniya Bhar Ki Yaadein Humse Milne Aati Hain,
Shaam Dhale Is Soone Ghar Me Mela Lagta Hai,

दुनियाँ भर की यादें हम से मिलने आती हैं
शाम ढले इस सूने घर में मेला लगता है।

Leave a Comment