Thehra Nahi Hoon Main

Thehra Nahi Hoon Main

Mushkile Jaroor Hain Magar Thehra Nahi Hoon Main,
Manzil Se Jara Keh Do Abhi Pahucha Nahi Hoon Main.
Kadmon Ko Baandh Na Payegi Musibat Ki Zanjeere,
Raston Se Jara Keh Do Abhi Bhatka Nahi Hoon Main.

मुश्किलें जरूर हैं मगर ठहरा नही हूँ मैं,
मंज़िल से जरा कह दो अभी पहुंचा नही हूँ मैं,
क़दमों को बाँध न पाएगी मुसीबत कि जंजीरे,
रास्तों से जरा कह दो अभी भटकता नहीं हूँ मैं।

Kitne Bhi Daldal Hon Zindagi Me, Pair Jamaye Hi Rakhna,
Chahe Haath Khali Ho Zindagi Me Lekin Use Uthaye Hi Rakhna,
Kaun Kahta Hai Chhalni Me Pani Ruk Nahi Sakta,
Apna Hausla Barf Jamne Tak Banaye Rakhna.

कितने भी दलदल हों ज़िन्दगी में, पैर जमाये ही रखना,
चाहे हाथ खाली हो ज़िन्दगी में लेकिन उसे उठाये ही रखना,
कौन कहता है छलनी में पानी रुक नही सकता,
अपना हौसला बर्फ़ जमने तक बनाये रखना।

Leave a Comment