Thodi Si Uchhal Di

Thodi Si Uchhal Di

Thodi Si Pee Sharab Thodi Si Uchhal Di,
Kuchh Iss Tarah Se Humne Jawaani Nikaal Di.

थोड़ी सी पी शराब थोड़ी सी उछाल दी,
कुछ इस तरह से हमने जवानी निकाल दी।

Giri Mili Ek Botal Sharab Ki To Aisa Laga Mujhe
Jaise Bikhra Pada Tha Ek Raat Ka Sukoon Kisi Ka.

गिरी मिली एक बोतल शराब की तो ऐसा लगा मुझे
जैसे बिखरा पड़ा था एक रात का सुकून किसी का।

Tumhari Aankhon Ki Tauheen Hai Jara Socho,
Tumhara Chahane Wala Sharab Peeta Hai.

तुम्हारी आँखों की तौहीन है जरा सोचो,
तुम्हारा चाहने वाला शराब पीता है।

Ek Pal Me Le Gayi Mere Saare Gam Khareed Kar,
Kitni Ameer Hoti Hai Ye Botal Sharab Ki.

एक पल में ले गयी मेरे सारे गम खरीद कर,
कितनी अमीर होती है ये बोतल शराब की।

Yun To Aisa Koi Khaas Yarana Nahin Hai Mera Sharab Se,
Ishq Ki Rahon Me Tanha Mili To Hamsafar Ban Gayi.

यूँ तो ऐसा कोई ख़ास याराना नहीं है मेरा शराब से,
इश्क की राहों में तन्हा मिली तो हमसफ़र बन गई।

Sharab Se Yarana - Sharab Shayari Hindi

Leave a Comment