To Bewafa Kehna

To Bewafa Kehna

Teri Chokhat Se Sar Uthhau To Bewafa Kehna,
Tere Siwa Kisi Aur Ko Chahu To Bewafa Kehna,
Meri Wafaon Pe Shaq Hai To Khanzar Utha Lena,
Main Shauq Se Na Mar Jayun To Bewafa Kehna.

तेरी चौखट से सर उठाऊँ तो बेवफा कहना,
तेरे सिवा किसी और को चाहूँ तो बेवफा कहना,
मेरी बफओं पे सक है तो खंजर उठा लेना,
मै शौक से ना मर जाऊं तो बेवफा कहना।

Zindagi Se Bas Yahi Ek Gila Hai,
Khushi Ke Baad Na Jaane Kyu Gham Mila Hai,
Humne To Ki Thi Wafa Unse Jee Bhar Ke,
Par Nahin Jante The Wafa Ke Badle Bewafai Hi Sila Hai.

ज़िंदगी से बस यही एक गिला है,
ख़ुशी के बाद न जाने क्यों गम मिला है,
हमने तो की थी वफ़ा उनसे जी भर के,
पर नहीं जानते थे कि वफ़ा के बदले बेवफाई ही सिला है।

Kabhi Kareeb To Kabhi Juda Hai Tu,
Jaane Kis Kis Se Khafa Hai Tu,
Mujhe To Tujh Par Khud Se Jyada Yakeen Tha,
Par Zamana Sach Hi Kahta Tha Ki Bewafa Hai Tu.

कभी करीब तो कभी जुदा है तू,
जाने किस-किस से खफा है तू,
मुझे तो तुझ पर खुद से ज्यादा यकीं था,
पर ज़माना सच ही कहता था कि बेवफ़ा है तू।

Leave a Comment