Tu Hi Nazar Aata Hai

Tu Hi Nazar Aata Hai

Ek Khayal Ban Ke Tu Dil Me Samaa Jata Hai,
Tu Hi Bas Mere Dil Ko Bahut Bhata Hai,
Teri Aankhon Se Dekhta Hu Main Duniya Sari,
Iss Liye Har Taraf Bas Tu Hi Nazar Aata Hai.

एक ख्याल बन के तू दिल में समा जाता है,
तू ही बस मेरे दिल को बहुत भाता है,
तेरी आँखों से देखता हूँ मैं दुनिया सारी,
इस लिए हर तरफ बस तू ही नजर आता है।

Jaane Us Shaks Ko Kaisa Ye Hunar Aata Hai,
Raat Hoti Hai To Aankh Me Utar Aata Hai,
Main Uske Khayal Se Nikalun To Kahan Jaaun,
Wo Meri Soch Ke Har Raste Par Nazar Aata Hai.

जाने उस शक्स को कैसा ये हुनर आता है,
रात होती है तो आँख में उतर आता है,
मैं उसके ख्याल से निकलूं तो कहाँ जाऊं,
वो मेरी सोच के हर रास्ते पर नज़र आता है।

Koi Hai Jiska Is Dil Ko Intezaar Hai,
Khayalon Me Bhi Bas Uska Hi Khayal Hai,
Khushiyan Main Saari Us Par Luta Dun,
Kab Aaega Vo Chahane Wala…
Jiska Is Dil Ko Intezaar Hai.

कोई है जिसका इस दिल को इंतज़ार है,
ख्यालों में भी बस उसका ही ख्याल है,
खुशियां मैं सारी उस पर लुटा दूँ,
कब आएगा वो चाहने वाला…
जिसका इस दिल को इंतज़ार है।

Unka Bharosa Mat Karo, Jinka Khayal
Waqt Ke Saath Badal Jaye .
Bharosa Unka Karo Jinka Khayal Tab Bhi
Baisa Hi Rahe Jab Aapka Wakt Badal Jaye.

उनका भरोसा मत करो, जिनका ख्याल
वक्त के साथ बदल जाऐ ।
भरोसा उनका करो जिनका ख्याल तब भी
वैसा ही रहे जब आपका वक्त बदल जाऐ।

Leave a Comment