Wo Humari Laash Par

Wo Humari Laash Par

Jiski Yaad Me Sare Jahnan Ko Bhul Gaye,
Suna Hai Aajkal Wo Humara Naam Tak Bhul Gaye,
Kasam Khayi Thi Jisne Sath Nibhane Ki Yaaro,
Aaj Wo Humari Laash Par Aana Bhul Gaye.

जिसकी याद में सारे जहाँ को भूल गए,
सुना है आजकल वो हमारा नाम तक भूल गए,
कसम खाई थी जिसने साथ निभाने की यारो,
आज वो हमारी लाश पर आना भूल गए।

Hindi Maut shayari For Whatsapp, Wo Humari Laash Par

Karni Mujhe Khuda Se Ek Fariyaad,
Baki Hai Kahni Unse Ek Baat Baki Hai,
Maut Bhi Aa Jaaye To Kah Dungi,
Jara Ruk Ja Abhi Mere Dosto Se Ek Mulaqat Baki Hai.

करनी मुझे खुदा से एक फरियाद,
बाकी है कहनी उनसे एक बात बाकी है,
मौत भी आ जाये तो कह दूंगी,
जरा रुक जा अभी मेरे दोस्तो से एक मुलाक़ात बाकी है।

Agar Wo Apni Mohabbat Hame Bana Len,
Ham Unka Har Khwaab Apni Palkon Pe Saja Len,
Karegi Kaise Maut Hame Unse Judaa,
Agar Wo Hame Apni Rooh Mein Basa Len.

अगर वो अपनी मोहब्बत हमें बना लें,
हम उनका हर ख्वाब अपनी पलकों पे सजा लें,
करेगी कैसे मौत हमें उनसे जुदा,
अगर वो हमें अपनी रूह में बसा लें।

Leave a Comment