Woh Ek Khat

Woh Ek Khat

Woh Ek Khat Jo Usne Kabhi Likha Hi Nahi,
Main Roz Baithh Kar Uska Jawab Likhta Hun.

वो एक खत जो उसने कभी लिखा ही नहीं,
मैं रोज बैठ कर उसका जबाब लिखता हूँ।

Sad Shayari Woh Ek Khat Hindi For Boyfriend

Abhi To Choor Choor Hi Huye Hain Tere Ishq Me,
Mere Bikharne Ka Khel To Abhi Baaki Hai.

अभी तो चूर चूर ही हुए हैं तेरे इश्क में,
मेरे बिखरने का खेल तो अभी बाकी है।

Kuchh Iss Adaa Se Tode Hain Talluq Usne,
Ek Mudaat Se Dhoondh Raha Hun Kasoor Apna.

कुछ इस अदा से तोड़े हैं ताल्लुक उसने,
एक मुद्दत से ढूंढ़ रहा हूँ कसूर अपना।

Do Kash Mohabbat Ke Kya Liye,
Zindagi Dhuaan-Dhuaan Ho Gayi.

दो कश मोहब्बत के क्या लिये,
जिंदगी ही धुआँ-धुआँ हो गई।

Leave a Comment