Ye Kambakht Zindagi

Ye Kambakht Zindagi

Jo Lamha Saath Hai Use Jee Bhar Ke Jee Lena,
Ye Kambakht Zindagi Bharose Ke Kabil Nahi Hai.

जो लम्हा साथ है उसे जी भर के जी लेना,
ये कमबख्त ज़िन्दगी भरोसे के काबिल नहीं है।

Usi Ko Kahte Hain Jannat Usi Ko Nark Bhi, 
Wo Zindagi Jo Haseeno Ke Darmiyan Guzre.

उसी को कहते हैं जन्नत उसी को नर्क भी
वो ज़िंदगी जो हसीनों के दरमियाँ गुज़रे।

Yahi Hai Zindagi Kuchh Khwaab Chand Ummeeden,
Inheen Khilaunon Se Tum Bhi Bahal Sako To Chalo.

यही है ज़िंदगी कुछ ख़्वाब चंद उम्मीदें,
इन्हीं खिलौनों से तुम भी बहल सको तो चलो।

Leave a Comment