Ye Milabat Ka Daur

Ye Milabat Ka Daur

Ye Milabat Ka Daur Hai “Sahab” Yahan,
Ilzaam Lagaye Jate Hain Tareefon Ke Libas Me.

ये मिलावट का दौर हैं  “साहब”  यहाँ,
इल्जाम लगायें जाते हैं तारिफों के लिबास में।

Leave a Comment