Ye Raat Aapki Yaad Me

Ye Raat Aapki Yaad Me

Jaane Kab Aapki Aankho Se Izhar Hoga,
Aapke Dil Me Humare Liye Pyar Hoga,
Gujar Rahi Hai Ye Raat Aapki Yaad Me,
Kabhi To Aapko Bhi Humara Intezar Hoga.

जाने कब आपकी आँखों से इज़हार होगा,
आपके दिल में हमारे लिए प्यार होगा,
गुजर रही है ये रात आपकी याद में,
कभी तो आपको भी हमारा इंतज़ार होगा।

Us Ajnabi Ka Yun Na Intezaar Karo,
Is Ashiq Dil Ka Na Aitbaar Karo,
Roj Nikla Kare Kisi Ki Yaad Me Aansu,
Itna Na Kabhi Kisi Se Pyar Karo.

उस अजनबी का यूँ न इंतज़ार करो,
इस आशिक दिल का न ऐतबार करो,
रोज़ निकला करें किसी के याद में आंसू,
इतना न कभी किसी से प्यार करो।

Kabhi Kisi Sapne Ko Dil Se Lagaya Karo,
Kisi Ke Khwaabo Me Ayaa Jaya Karo,
Jab Bhi Dil Ho Ki Koi Tumhen Bhi Manaye,
Bas Hume Yaad Karke Rooth Jaya Karo.

कभी किसी सपने को दिल से लगाया करो,
किसी के ख्वाबों में आया-जाया करो,
जब भी दिल हो कि कोई तुम्हें भी मनाये,
बस हमें याद करके रूठ जाया करो।

Leave a Comment