Zamana Bada Kharab Hai

Zamana Bada Kharab Hai

Ye Zamana Jal Jayega Kisi Shole Ki Tarah,
Jab Uske Hath Me Khnkega Mere Naam Ka Kangan.

ये जमाना जल जायेगा किसी शोले की तरह,
जब उसके हाथ में खनकेगा मेरे नाम का कंगन।

Chhod De Koshishen Insano Ko Samjhne Ki,
Yahan Jarurato Ke Hisaab Se Badalte Naqab Hain,
Apne Gunahon Par Sau Parde Daalkar,
Har Shaks Kahta Hai-“Zamana Bada Kharab Hai”

छोड़ दें कोशिशें इंसानों को पहचानने की,
यहाँ जरूरतों के हिसाब से बदलते नकाब हैं,
अपने गुनाहों पर सौ पर्दे डालकर,
हर शख्स कहता है – “जमाना बड़ा खराब हैं।

Duniya Me Kahan Wafa Ka Sila Dete Hain Log,
Ab To Mohabbat Ki Bhi Saja Dete Hain Log,
Pehle Sajaate Hain Dilo Me Chahton Ke Khwab,
Fir Aitbar Ko Aag Laga Dete Hain Log.

दुनिया में कहाँ वफ़ा का सिला देते हैं लोग,
अब तो मोहब्बत की भी सजा देते हैं लोग,
पहले सजाते हैं दिलो में चाहतों के ख्वाब,
फिर ऐतबार को आग लगा देते हैं लोग।

Leave a Comment