Gustakh Hai Tumhari Yaad

Gustakh Hai Tumhari Yaad

Badi Gustakh Hai Tumhari Yaad Ise Tameej Sikha Do,
Dastak Bhi Nahi Deti Aur Dil Me Utar Jati Hai.

बड़ी गुस्ताख है तुम्हारी याद इसे तमीज सिखा दो,
दस्तक भी नहीं देती और दिल में उतर भी जाती है।

यादें शायरी

Leave a Comment