Mushkil Zindagi Ka Safar

Mushkil Zindagi Ka Safar

Kitna Mushkil Hai Zindagi Ka Ye Safar,
Khuda Ne Marna Haraam Kiya Logon Ne Jeena.

कितना मुश्किल है ज़िन्दगी का ये सफ़र,
खुदा ने मरना हराम किया लोगो ने जीना।

Jo Log Maut Ko Zaalim Qaraar Dete Hain,
Khuda Milaye Unhen Zindagi Ke Maaron Se.

जो लोग मौत को ज़ालिम क़रार देते हैं,
ख़ुदा मिलाए उन्हें ज़िंदगी के मारों से।

Jo Padha Hai Use Jeena Hi Nahin Hai Mumakin,
Zindagi Ko Main Kitabon Se Alag Rakhta Hun.

जो पढ़ा है उसे जीना ही नहीं है मुमकिन,
ज़िंदगी को मैं किताबों से अलग रखता हूँ।

Leave a Comment